Monday, December 7, 2009

किराए का लंड
दोस्तों मुझे चुदवाने का बहुत शौक है.मैं जिस समय बारहवीं में पढ़ रही थी .उसी समय से मुझे लंड का स्वाद मिल चुका था.मैं अपने पड़ोस के लड़कों से छुप छुप कर चुदवाती थी। जब यह बात मेरे माँ बाप को पता चली तो उनहोंने अपनी इज्जत बचाने के लिए मेरी शादी एक ऐसे आदमी से कर दी थी, जो मुझ से १२ साल बढ़ा था.यद्यपि वह काफी पैसे वाला है लेकिन वह जैसे ही काम के बाद घर आता है फ़ौरन सो जाता है .उसे सेक्स में कोई दिलचस्पी नहीं है .चुदायी से जादा उसे पैसों की फ़िक्र है इसलिए मैं रातरात भर लंड के लिए तरसती रहती हूँ। पहले मैं अपने नौकर से चुदवाती थी लेकिन वह भी अपने घे चला गया .इसलिए मैं किसी ऐसे व्यक्ती की तलाश कर रही थी जिसका लंड काफी लंबा और मोटा हो,जो मेरी चूत की आग को शांत कर सके।
एक दिन मैं अपनी सहेली प्रिया से इसी विषय पर बात कर रही थी ,क्योंकि उसकी भी यही समस्या है। वह भी अपने पति से संतुष्ट नहीं है.उसका पति भी उसे हफ़्तों तक नहीं कापना लंड नहीं देता है।
प्रिया ने मुझे बताया की वह एक ऐसे आदमी को जानती है.जो पासे लेकर चुदाई करता है.और इसी से अपनी कमाई करता है। लोग ऐसे लोगों को जिगोलो कहते हैं .यह लोग एक तरह से पुरूष वेश्या होते हैं .और चुदाई में माहिर होते हैं.प्रिया ने मुझे उस आदमी का फोन नंबर भी दे दिया था। दूसरे दिन ही मैंने उस व्यक्ती से फोन किया तो उस ने कहा की उसका नाम लकी है, और उसकी उम्र २४ साल है। वह एक रात के लिए ३००० /- रुपया लेता है.अगर एक के साथ किसी और को भी चुदवा हो तो कुल ४००० /-रुपये लगेंगे.मैं फ़ौरन तय्यार हो गयी .और मैंने प्रिया को यह बात बता थी। प्रिया को भी चुदवाने की इच्छा हो गयी। आख़िर हमने लकी को तारीख और समय भी बता दिया.लकी ने कहा की वह दिए गयी वक्त पर पहुँच जाएगा। उस दी हमारे दोनों के पति बाहर गयी हुए थे।
जसे ही लकी आया तो हम उसे देख कर ही समझ गयी की यह आदमी जरूर हमारी चूत को शांत कर देगा.लकी के पेंट अन्दर से उसका लंबा लंड स्पष्ट झलक रहा था.हमने लकी को अपने सोने के कमरे में बिठाया.और उस से बाक़ी बातें कराने लगे.लकी ने बताया की वह इस धंदे में सीर्फ दी साल पहले ही आया है, और आजतक लगभग तीन सौ औरतों की चुदायी जर चुका है.उन में सभी तरह की औरतें थीं .जिन को अपने पति के लंड से संतुष्टि नहीं होती या जिनका लंड लूज हो। लकी ने बताया की वह लगातार चार घंटे तक चुदायी कर सकता है ,और एक साथ तीन चार औरतों की चुदायी कर सकता है.लकी ने यह भी कहा की अगर कोई औरत चाहे तो वह उनकी गांड भी मार सकता है.लकी ने यह भी कहा की एक बार में उसका इतना वीर्य निकलता है की उससे एक कप भर सकता है। कुछ औरतें तू उसका वीर्य पीने के लिए ही बुलाती हैं .क्योंकि वीर्य पीने से जवानी बनी रहती है..लकी ने यह भी बताया की वह अपना वीर्य वीर्य बैंक में भी देता है,जो जरूरतमंद औरतों के बच्चा पैदा कराने में काम आता है.इसलिए इसकी काफी माग है,
यह सुन कर हमारी चूतों में पानी आ रहा था। और सब्र नहीं हो रहा था .मैंने फ़ौरन लकी का लंड बाहर निकाला और चूसने लगी .इतने लंबे सख्त लंड को चूसकर मई ख़ुद को भाग्यशाली मान रही थी.प्रिया भी बारी बारी से लंड चूसने लगी.लंड खडा हो चुका था ,और चूत में हमला करने को तैयार हो रहा था ।
लाकीई ने मुझे पलंग पर लिटाया और मरे कमर के नीचे एक तकिया रख दी ,जिस से मेरी चूत ऊपर उठ गयी और चूत की फांक साफ़ दिखायी देने लगी..लकी ने मेरे सारे कपड़े निकाल दिए और ख़ुद भी नंगा हो गया,बाद में प्रियाने भी अपने कपडे निकाल दिए.वह झुक कर लंड के गोले चाटने लगी .लंड का स्वाद बड़ा अच्छा होता है।

फ़ौरन ही लकी मेरे ऊपर सवार हो गया और मेरी चूत को निशाना बना कर लंड चूत में रख दिया .लकी ने जोर का एक ऐसा धक्का मारा की लंड गपाक से चूत में आधा घुस गया.मेरे मुंह से हाय हाय निकल गयी,कुछ देर बाद लकी ने लगातार धक्के मारे की मई चिल्लाने लगी.मेरे चहरे पर पसीना छलकने लगा था.लकी दनादन लंड के वार कर रहा था.हर वार ने उफ़ उफ़ ओहोह ई ई उफ़ कराने लगी थी.लंड सीधा मेरी बच्चेदानी तक पहुँच रहा था.लंड से मेरी पूरी चूत भर गयी थी.लकी जब भी लंड चूत से बाहर निकालता था तो मुझे ऐसा लगता था की जैसे लंड के साथ मेरी चूत भी फंस कर निकल जायेगी.लकी ने मुझे आसन बदल बदल कर तरह तरह से चोदा कभी मुझे अपने लंड पर बिठाया ,कभी घोड़ी बनाकर अपना लंड पीछे से मेरी चूत में घुसाया.कभी दीवार से लगा कर मुझे चोदा ।
इस जबरदस्त चुदायी से उसने मेरी चूत का कचूमर ही निकाल दिया था। चूत का पानी लगा तार बह रहा था.तभी लकी में वापस मेरी गांड को ऊपर उठाया और गांड के छेड़ पर अपना लंड रक्क्ख दिया.मैं रोकती रही मगर लकी नहीं माना.उसने अपना मोटा लंड मेरी गांड में धंसा दिया.मुझे ऐसा लगा जैसे मेरी गांड में किसी ने लोहे की गर्म रोड घुसा दी हो मैं जोर जोर से चीखने लगी .लेकिन लकी बिना रुके मेरी गांड मारता रहा.और धक्के पर धक्का लगाता रहा.प्रिया यह देख कर डर रही थी और अपनी गांड और चूत सहला रही थी .उसे पता था की अब उसका नंबर आनी वाला है.प्रिया की चूत से पानी रिस रहा था। लेकिन वह मजा ले रही थी। मुझे भी बड़ा मजा आ रहा था.मैं सोच रही थी काश लकी का लंड मेरी चूत हमेशा घुसा रहे और इसी तरह मेर चुदायी करता रहे ।
एक घंटे के बाद लकी ने कहा अब मेरा वीर्य निकालने वाला है, आहार आप लोग चाहें तो इसे पी सकती हैं .प्रिया फ़ौरन एक कप ले आयी और लकी ने अपना वीर्य उस कप भर दिया,जिसे हम दोनों ने आधा आधा पी लिया .सचमुच वीर्य बड़ा स्वादिष्ट था, मेरा सारा दर्द समाप्त हो चुका था। और मैं ताज़गी महसूस कराने लगी थी।
इसके बाद लकी ने इसी तरह से प्रिया को भी चोदा था उसने भी लकी के लंड का जमकर मजा लिया.और लकी के लंड को चूम लिया। तब से हमने यह तय कर लिया की आगे भी हम लकी कोही चुदवाने के लिए बुलवायेंगे। जब तक कोई ऐसा व्यक्ति नहीं मिलता जिसका लंड लकी की तरह लंबा मोटा और सख्त हो।
अगर आपका लंड भी ऐसा हो तो हमारी चूतें आपकेलिए तैयार हैं .हमें आपका इन्तजार रहेगा।
आपकी

अंजू और प्रिया

6 comments: